Categories
Hindi

ट्रांसजेंडर के लिए डॉक्टर द्वारा बताए गए ऐसी गाइड, जिसमें लिंग पुष्टिकरण के बारे में है सम्पूर्ण जानकारी

लिंग पुष्टिकरण सर्जरी क्या होती है और यह LGBTQIA+ समुदाय को कैसे कर रही है मदद, यह सब समझने और ट्रांसजेंडर के जीवन को आसान बनाने के लिए कैसे मदद कर सकती है इसके बारे में वीजेएस ट्रांसजेंडर के सीनियर कंसल्टेंट डॉक्टर सी विजय कुमार ने ऐसी गाइड का निर्माण किया है जिसमें लिंग पुष्टिकरण में बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी गयी है, आइये जानते है इस गाइड के बारे में :- 

डॉक्टर सी विजय कुमार ने बताया की जब उन्हें पहली बार एक ट्रांसजेंडर मरीज़ मिला था तो उस मरीज़ ने अपने सफर के बारे में पूरी जानकरी दी की कैसे उन्हें इलाज के बिना कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है | यह बात सुनकर इस बात का अहसास हुआ की भारत जैसे देश में ट्रांसजेंडर के लिए स्वास्थ्य सेवा में बहुत कम लोग है, यहाँ तक के हॉस्पिटल और डॉक्टर  के  बीच भी ट्रांसजेंडर लोगों से कितना भेदभाव किया जाता है, इसलिए उन्होंने इस मुद्दे में  और LGBTQIA+ समुदाय के लिए अपने सर्जरी को समर्पित करने का फैसला किया है | आइये जानते है इस सर्जरी के बारे में कुछ फैक्ट्स :- 

  1. लिंग पुष्टिकरण सर्जरी क्या होती है और इस सर्जरी को क्यों किया जाता है ? 

डॉक्टर सी विजय कुमार ने यह बताया कि लिंग पुष्टिकरण सर्जरी उन लोगों के लिए होती है, जो जेंडर डिस्फोरिया जैसी समस्या से पीड़ित होते है | यह समस्या तब होती है जब व्यक्ति की पहचान जन्म के समय निर्धारित लिंग से बिलकुल भिन्न होती है | ऐसे स्थिति में डॉक्टर कई तरह के प्रक्रियाएं और सर्जरी करते है, जो उन ट्रांसजेंडर लोगों को उनके स्व-पहचाने गए लिंग संक्रमण में मदद करती है | यह सर्जरी इसलिए की जाती है ताकि उनका शारीरक उनके लिंग पहचान से मेल खाए | 

  1. लिंग परिवर्तन के लिए पहले पड़ाव क्या होता है ? 

डॉक्टर सी विजय कुमार ने बताया की जब भी कोई ट्रांसजेंडर मरीज़ उनके पास आता है तो उनका पहले काम यही होता है की उनकी वर्तमान परिस्थितियों को समझना, आवश्कताओं को जानना, जिसका अर्थ यह है की इस बात का जानना की वह मरीज़ कौन-सा सर्जरी करवाना चाहता है | पहले कदम यही होता है की इस बात को समझना की वह परिवर्तन के लिए कौन-सी सर्जरी को करवाना चाहते है | इसके लिए उन्हें मनोचिकित्सक या फिर फिजिओलॉजिस्ट से जेंडर रीअसाइनमेन्ट सर्जरी सर्टिफिकेट की ज़रुरत होती है | सर्टीफिकेट में मूल से रूप इस बारे में बताया गया होता है की व्यक्ति डिस्फोरिआ से पीड़ित है या नहीं, इसी के साथ ही किसी अन्य समस्या या फिर वह ट्रांसफॉर्मेशन सर्जरी से गुजरने के लिए फिट है या नहीं आदि | आम-तौर पर मरीज़ को कम से कम छः महीने के लिए मनोचिकित्सक के पास रहने के लिए सुझाव दिया जाता है, ताकि वह मरीज़ सही तरह से आगणन कर सके और वह खुद को भी सर्जरी के लिए सुनिक्षित कर सके, क्योंकि सर्जरी हो जाने के बाद इससे फिर से बदला नहीं जा सकता |    

इससे संबंधित और जानकारी के लिए आप वीजेएस ट्रांसजेंडर से संपर्क कर सकते है, यहाँ के सभी डॉक्टर कॉस्मेटोलॉजिस्ट और ट्रांसजेंडर सर्जन में एक्सपर्ट है, जो आपको इससे लिंग पुष्टिकरण से संबंधित पूरी जानकारी दे सकते है, यदि आप चाहें तो इस संस्था से अपना इलाज भी करवा सकते है |

Categories
Hindi

लिंग पुष्टि सर्जरी से पहले हार्मोनल थेरेपी कैसे की जाती है ?

लिंग पुष्टि सर्जरी एक तरह की प्रक्रिया है, जिसके माध्यम से लोगों को अपने लिंग परिवर्तन में सहायता मिलती है | लिंग पुष्टि सर्जरी में कई तरह के विकल्प शामिल होते है जैसे की चेहरे की सर्जरी, निचले हिस्से की सर्जरी, ब्रेस्ट सर्जरी आदि | इस सर्जरी के परिणाम से अधिकांश लोग काफी संतुष्टि में होते है | जिसके बाद से उनकी आकृति, किसी भी तरह के कार्य करने में और जीवन को बेहतर बनाने में गुणवत्ता प्राप्त होती है |  

वीजेएस ट्रांसजेंडर क्लिनिक के सीनियर कंसल्टेंट डॉक्टर सी माधव किरण ने अपने यूट्यूब चैनल में पोस्ट एक वीडियो में इस  बात का जिक्र किया की लिंग पुष्टि सर्जरी के पहले कई विकल्प ऐसे भी होते है, जिन पर ध्यान देना बेहद आवश्यक होता है |  सर्जरी के पहले  कुछ मामलों में हार्मोन थेरेपी की ज़रूरत पड़ती है | इसकी प्रक्रिया और प्रतिष्ठित परिणामो के आधार पर ही हार्मोन व्यक्ति के शरीर पर बदलाव ला सकता है, जिसकी मदद से सर्जरी को काफी प्रभावी बनाया जा सकता है | लेकिन इस प्रक्रिया को करने से पहले स्वास्थ्य सेवा प्रदाता व्यक्ति के मेडिकल इतिहास के बारे में समीक्षा करेंगे, ताकि प्रदाता इस बात का सुनिक्षित कर पाए की उस व्यक्ति की शारीरक स्थिति अच्छी है और उस पर सर्जरी की प्रक्रिया की शुरुआत की जा सकती है | इस प्रक्रिया के दौरान कई तरह के परीक्षण किये जाते है , जिनमे शामिल है:- 

  • शारीरिक रूप से  सम्पूर्ण परीक्षा 
  • रक्त का परीक्षण
  • इमेजिंग का परीक्षण 

हार्मोनल थेरेपी कितने प्रकार के होते है ? 

यह दो तरह के होते है :- 

  •  मर्दाना हार्मोन थेरेपी :- इस थेरेपी का उपयोग आम-तौर पर ट्रांसजेंडर पुरुषों और नॉन-बाइनरी लोगों द्वारा शरीर में शारीरिक परिवर्तन लाने के लिए किया करते है | इस तरह के परिवर्तनो को यौन की विशेषताएं भी कहा जाता है | यह थेरेपी व्यक्ति को अपने लिंग की सही पहचान करने के साथ-साथ उसे सही ढंग से संरेखित करने में मदद भी करते है | यह थेरेपी के मासिक धर्म को रोकने का कार्य करता है और साथ ही अंडाशय में एस्ट्रोजन बनने की क्षमता को कम करने में भी सक्षम होता है | इस थेरेपी को स्वास्थ्य सेवा प्रदाता अकेले या फिर सर्जरी के साथ लेने की सलाह दे सकते है | इस थेरेपी को करने के हर व्यक्ति उसका चुनाव नहीं करता, क्योंकि इससे प्रजनन की क्षमता और यौन की प्रक्रिया को काफी प्रभावित हो सकते है, साथ ही स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी उत्पन्न हो सकती है | 
  • स्त्रीकरण हार्मोन थेरेपी :- इस थेरेपी का इस्तेमाल खासकर ट्रांसजेंडर महिला या फिर नॉन-बाइनरी लोगों द्वारा लिंग में परिवर्तन लाने के लिए करते है | इस तरह के परिवर्तन को द्वितीयक यौन की विशेष्ताएं भी कहा जाता है | इस थेरेपी से भी व्यक्ति को अपने लिंग की सही पहचान करने के साथ-साथ उसे सही ढंग से संरेखित करने में मदद  मिलता है | इस थेरेपी में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की क्रिया को रोकने के लिए स्वास्थ्य सेवा प्रदाता कुछ दवाओं की सलाह देते है, जिसमे एस्ट्रोजन हार्मोन को लेना भी शामिल होता है | एस्ट्रोजन हार्मोन के माध्यम से शरीर में बनने वाले टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की मात्रा को कम किया जाता है | यह स्त्री के द्वितीयक यौन विशेषताओं के विकास पर भी ट्रिगर करने का कार्य करता है | इस थेरेपी को भी स्वास्थ्य सेवा प्रदाता अकेले या फिर सर्जरी के साथ लेने की सलाह दे सकते है | 

इससे संबंधित किसी भी तरह की जानकारी के लिए आप वीजेएस ट्रांसजेंडर क्लिनिक नामक यूट्यूब चैनल पर विजिट कर सकते है, इस चैनल पर इस विषय संबंधित पूरी जानकारी पर वीडियो बना कर पोस्ट की हुई है | यदि आपको लिंग पुष्टि सर्जरी के बारे में और जानकारी चाहिए तो इसके लिए आप वीजेएस ट्रांसजेंडर क्लिनिक से परामर्श कर सकते है, यहाँ के डॉक्टर सी माधव किरण लिंग पुष्टि सर्जरी में एक्सपर्ट है, जिनसे आपको इस विषय में पूरी जानकारी मिल सकती है |

Categories
Hindi

स्तन प्रत्यारोपण क्या है और कैसे काम करता है?

स्तन प्रत्यारोपण को प्लास्टिक सर्जरी के सबसे लोकप्रिय प्रकारों में एक माना जाता है, जिसकी मदद से आपके स्तनों के आकर को बढ़ाया जा सकता है | यह सर्जरी करवाने वाले  उम्मीदवारों की शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य अच्छी और उनकी अपेक्षाएं वास्तविकता होनी चाहिए | आइये समझते है स्तन प्रत्यारोपण के बारे में :- 

वीजेएस ट्रांसजेंडर क्लिनिक के सीनियर कंसल्टेंट डॉक्टर सी माधव किरण ने अपने यूट्यूब चैनल में पोस्ट एक वीडियो के माध्यम से यह बताया कि ब्रेस्ट इम्प्लांट एक अवास्तविक उपकरण होता है, जिनके शल्य के माध्यम से आपके स्तनों में स्थापित किया जाता है | ब्रेस्ट इम्प्लमेंट एक तरह का सिलिकन खोल होता है जो सिलिकॉन जेल या फिर स्लाइन भरा हुआ होता है | 

यह प्रक्रिया प्लास्टिक सर्जन के द्वारा ही किया जाता है | कैंसर के कारण स्तन खोने के बाद आप ब्रेस्ट इम्प्लांट करवाने के विकल्प को चुन सकती है, जिसकी सहायता से आप शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ व्यक्ति बन सकते है | ब्रेस्ट का रिकंस्ट्रक्शन तब होता है जब कैंसर से पीड़ित मरीज़ अपने ब्रेस्ट इम्प्लांट करवाते है | ब्रेस्ट ऑग्मेंटेशन को बूब जॉब के नाम से भी जाना जाता है, जिसमे एक स्वस्थ व्यक्ति अपने स्तनों का आकार और आकृतिक में परिवर्तन के लिए ब्रेस्ट इम्प्लांट करवाता है |   

स्तन प्रत्यारोपण करवाने के कई कारण हो सकते है जैसे कि कई लोग इस इम्प्लांट्स द्वारा अपने स्तनों के आकार को बड़ा करवाते है | कई अन्य कारण ऐसे भी होते है जिसकी वजह से यह ब्रेस्ट इम्प्लांट्स करवाना पड़ता है, जिनमे शामिल है :- 

  • गर्भावस्था के दौरान, वजन घटने या फिर उम्र बढ़ने के बाद स्तनों के आकार काफी कम हो जाते है | जिस वजह से ब्रेस्ट इम्प्लांट करवाने के विकप्ल को चुना जाता है | 
  • स्तन का विषमता होना आम है , यदि यौवन अवस्था से पहले आप किसी एक स्तन में ऊतक को नुकसान करने का अनुभव करवाते है तो यह अधिक प्रमुख हो सकता है | 
  • जिन महिलाओं में को किसी कैंसर की वजह या फिर अन्य स्वास्थ्य स्थिति के कारण स्तनों को हटा दिया जाता है, उनमे ब्रेस्ट इम्प्लांट्स द्वारा स्त्रियोचित विशेषताओं को पूर्ण रूप से स्थापित किया जाता है और उन्हें सम्पूर्ण होने का अहसास दिलाने में भी मदद किया जाता है | 
  • स्तन आपकी लिंग पहचान की सटीक रूप से पुष्टि करने के लिए भी आपकी मदद करने में सक्षम है | 
  • स्तन प्रत्यारोपण की सहायता से आप अपने आत्मसम्मान और शरीर की छवि को बेहतर बना सकते है | 

इससे जुड़ी कोई भी जानकारी या फिर फिर आप ब्रेस्ट इम्प्लांट करवाना चाहते हो तो इसके लिए आप वीजेएस ट्रांसजेंडर क्लिनिक से परामर्श कर सकते है, यहाँ के डॉक्टर सी माधव किरण एसआरएस सर्जन & एचआरटी कंसलटेंट है, जो आपको इस विषय के बारे में पूरी जानकारी दे सकते है |